drishti2015-poster-3Aug2015

आगरा, 3 अगस्त 2015: देश में नेत्रदान के प्रोत्साहन को संकल्पित गैर लाभकारी संगठन अंतरदृष्टि द्वारा आयोजित क्रिएटिव कांटेस्ट दृष्टि 2015 और वृहद स्तर पर मनाया जायेगा। 2011 से शुरू हुए इस अभियान का यह पांचवा पड़ाव होगा।

अंतरदृष्टि प्रबंध न्यासी अखिल श्रीवास्तव ने आज यूथ हॉस्टल में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि पिछली बार की तरह इस बार भी हम लोग प्रविष्टियां इंटरनेट के माध्‍यम से स्‍वीकार करेंगें जिसमें डिजाईन की प्रविष्टियां भी शामिल होगी, हमें पूरा विश्‍वास है कि इससे प्रतिभागियों के प्रविष्टियां भेजने के खर्चे में कमी आएगी और नेत्रदान को बढ़ावा देने के अभियान को भी मजबूती मिलेगी।’

विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी क्रियेटिव कांटेस्‍ट में नेत्रदान विषय पर चार श्रेणियों यानी लघु फिल्‍म, पोस्‍टर, डिजाइन और ऑडियो जिंगल के लिए प्रविष्टियां (एंट्रीज) आमंत्रित की जा रही है। डिजाइन श्रेणी में प्रविष्टियां दो चरणों में स्‍वीकार की जायेगी। पहले चरण में डिजाइन श्रेणी के प्रति‍भागियों को सिर्फ डिजाइन की अवधारण यानी कॉन्सेप्ट को ईमेज के रूप में भेजना होगा। दूसरे चरण में केवल चुनी हुई प्रविष्टियों को ही जूरी स्‍क्रीनिंग के लिए अंतिम उत्पाद प्रस्तुत करने को कहा जाएगा। चुनी हुई प्रविष्टियों को प्रत्‍येक श्रेणी में गोल्‍डेन आई और सिलवर आई अवार्ड दिये जायेगें। सभी श्रेणीयों में प्रतिभागी 17 अक्टूबर 2015 तक अपनी प्रविष्टियां ऑनलाइन drishti.org.in या antardrishti.org या icareinfo.in वेबसाइट पर अपलोड कर सकते है। और अधिक जानकारी के लिए drishti@antardrishti.org पर ईमेल किया जा सकता है। प्रतियोगिता में किसी भी उम्र के भारतीय नागरिक भाग ले सकते हैं। प्रतियोगिता के लिए किसी भी तरह का प्रवेश शुल्‍क नहीं है।

प्रतियोगिता में इस वर्ष भी आडिएंस चॉइस अवार्ड चारो श्रेणीयों में दिया जायेगा, इसमें विजेताओ का चुनाव आनलाईन वोटिंग के माध्‍यम से होगा। 20 अक्टूबर 2015 प्रातः 8 बजे से ऑनलाइन वोटिंग शुरू होगी जो कि 30 अक्टूबर 2015 सायं 8 बजे तक चलेगी। विजेताओ को नवंबर के अंत में एक रंगारंग कार्यक्रम में अवार्ड दिए जायेंगे।

वर्ष 2011 में आगरा से शुरू हुआ दृष्टि क्रियेटिव कांटेस्‍ट आज पूरे देश में प्रसिद्ध है और नेत्रदान को बढ़ावा देने में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। पिछले साल की तरह इस वर्ष भी पुरस्कार समारोह आगरा में ही आयोजित किया जाएगा।